You are currently viewing जीवन को सुखी कैसे बनाये.? How to make life happy.? Tips for happiness in daily life.

 323 

मनुष्य का महत्वाकांक्षी होना एक स्वाभाविक गुण है । प्रत्येक व्यक्ति जीवन में कुछ न कुछ विशेष प्राप्त करना चाहता है । कुछ बड़े होकर डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते हैं तो कुछ व्यापार में अपना नाम कमाना चाहते हैं ।

इसी प्रकार कुछ समाज सेवा करना चाहते हैं तो कुछ भक्ति के मार्ग पर चलकर ईश्वर को पाने की चेष्टा करते है । सभी व्यक्तियों की इच्छाएँ अलग-अलग होती हैं परंतु इनमें से बहुत कम लोग ही अपनी इच्छा को साकार रूप में देख पाते हैं । थोड़े से भाग्यशाली अपनी इच्छा को मूर्त रूप दे पाते हैं । ऐसे व्यक्तियों में सामान्यता दृढ़ इच्छा-शक्ति होती है और वे एक निश्चित लक्ष्य की ओर सदैव अग्रसर रहते हैं । हम ज़िंदगी को जितना कोशिश करेंगे उतना ही हमें वापस मिलेगा। आज हम जानेंगे कि हमें अपने ज़िंदगी को खुशहाल बनाने के लिए क्या करना होगा।

ज़िंदगी में लक्ष्य होना जरुरी।

मनुष्य के जीवन में एक निश्चित लक्ष्य का होना अनिवार्य है । लक्ष्यविहीन मनुष्य क्रिकेट के खेल में उस गेंदबाज की तरह होता है जो गेंद तो फेंकता है परंतु सामने विकेट नहीं होते । इसी भाँति हम परिकल्पना कर सकते हैं कि फुटबाल के खेल में जहाँ खिलाड़ी खेल रहे हों और वहाँ से गोल पोस्ट हटा दिया जाए तो ऐसी स्थिति में खिलाड़ी किस स्थिति में होंगे इस बात का अनुमान स्वत: ही लगाया जा सकता है । अत: जीवन में एक निश्चित लक्ष्य एवं निश्चित दिशा का होना अति आवश्यक है ।

भूत भविष्य की बातों के बारे में ज्यादा न सोचना।

हम में से ज्यादातर लोग अपनी पुरानी गलतियों या बीती हुई बातों के बारे में सोच सोचकर परेशान होते रहते हैं। पुरानी बातों को याद कर करके रोते हैं। या बीते हुए समय को याद करके अफ़सोस करते रहते हैं कि हम ये नहीं कर पाये, हम वो नहीं कर पाये या हमारे साथ ऐसा क्यू हुआ या हमारे साथ वैसा क्यू नहीं हुआ और भी न जाने क्या क्या । उसी तरह हम भविष्य के बारे में बहुत ज्यादा सोच- सोच कर परेशान होते रहते हैं। और बहुत ज्यादा तनाव ले लेते हैं। इसलिए भूत भविष्य की चिंता छोड़कर अपने वर्तमान पर ध्यान दें। और जितना हो सके, वर्तमान में अच्छा सोचे, और अच्छा करें। हमेशा यह सोचें कि आपको जिंदगी में एक सफल इंसान बनना है।

आगे बढ़ने के लिए साहस होना जरूरी।

असल जिंदगी में मनुष्य का जीवन उतार चढ़ाव से भरा होता है। ऐसे में साहस का दामन थामे रहना बेहद जरूरी है। अगर आप साहस को अपना दोस्त नहीं बनाएंगे तो जीवन जीना मुश्किल हो जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जीवन में कई सारे ऐसे मौके आते हैं जब आपका साहस ही आपको आगे की ओर बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। खास तौर पर आजकल का समय बहुत ज्यादा कॉम्पिटेटिव हो गया है। हर कोई एक दूसरे से आगे बढ़ना चाहता है। लोगों में इतनी ज्यादा प्रतिस्पर्धा की भावना है कि वो किसी भी हालत में किसी से पीछे नहीं रहना चाहते। अगर आज के युग में आप साहस का दामन थामकर आगे नहीं बढ़े तो बहुत पीछे रह जाएंगे। इसलिए हमेशा इस बात को ध्यान में रखें कि साहस मनुष्य की सबसे बड़ी ताकत होती है।

अपने अंदर बदलाव की भावना।

सफल लोग हमेशा बदलाव को सहजता से लेते है। यदि आप बदलाव को सहजता से ले तो आपको सरल और सहज दोनों विशिस्ट गूढ़ बन जाता है यदि उसके साथ कोई सकरातमक बदलाव जुड़ जाता है। यदि आप ज़िंदगी के अनुसार बदलाव नहीं करेंगे तो सफल होने के बाद भी असफल हो जाएंगे। समय के साथ- साथ आपको अपने काम और पर्सनल लाइफ में बदलाव लाना जरुरी है।

चुनौती से घबराएं नही।

आपके द्वारा किया गया हर एक काम और आपके मिला हर एक मौका एक चुनौती की तरह होता है। ज़िंदगी में जो लोग इस बात को समझ कर अपना काम कर रहे है। उनके सफल होने का मौका दूसरे के मुकाबले कई गुना बढ़ जाता है। चुनौती मन और शरीर को मंजिल की दिशा में साधकर उसको वहाँ पर अपना ध्यान केंद्रित करने में मदद करती है। जो लोग चुनौती का सामना करने से घबराते है। सफलता भी उनसे बहुत कोसो दूर रहती है। इसलिए ज़िंदगी में सफल होने के लिए कभी भी किसी भी चुनौती से घबराना नहीं चहिए।

अपने जीवन में लगातार कोशिश करतें रहे । क्योंकि कोशिश करने वालों की कभी हार नही होती है।

 

0Shares